close

dear new user, for login please click on facebook button.

एटा स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही

एंकर- यूपी के एटा में स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही का मामला सामने आया है, बगैर पीपीई किट के ही कोरोना जांच की जा रही है, स्वास्थ्यकर्मी जाँच सैम्पल लेते समय पीपी किट का इस्तेमाल नही कर रहे है अपनी ..

एंकर- यूपी के एटा में स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही का मामला सामने आया है, बगैर पीपीई किट के ही कोरोना जांच की जा रही है, स्वास्थ्यकर्मी जाँच सैम्पल लेते समय पीपी किट का इस्तेमाल नही कर रहे है अपनी और मरीजों की जान से खिलबाड़ कर रहे हैं, जनपद में घर घर जाकर कोरोना वायरस की जाँच करने में कई टीमें लगी है लेकिन बगैर पीपीई किट के स्वास्थ्य कर्मी रैंडम चेकअप कर रहे हैं, जबकि जनपद में बहुत तेजी से कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़ रहा है, इसके बाबजूद भी स्वास्थ्य कर्मी जांच में  रिस्क उठा कर रहे हैं, पूरा मामला कोतवाली नगर क्षेत्र के होली मोहल्ला का मामला है जहां से कोबिड की जांच के लिए टीम गई थी और बिना किसी सुरक्षा उपकरण के ही सेम्पलिंग की गई, सूत्रों की माने तो उसी समय एक कोरोना पॉजिटिव भी निकल आया था इससे कही न कही डॉक्टर को ही खतरा है, हालांकि पीपीई किट की बात की जाए तो उत्तर प्रदेश में घोटाले के मामले सामने आ रहे हैं, इस प्रकरण के बाद एटा में भी पीपीई किट घोटाले की बू आ रही है हालांकि पूरे मामले में सीएमओ अरविंद कुमार गर्ग ने बताया कि कोई भी स्वास्थ्य कर्मचारी बिना पीपीई किट के किसी का कोरोना चेकअप नहीं कर सकता है यदि अगर ऐसा कोई मामला है तो मैं निश्चित रूप से जांच के बाद ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही करूंगा और कड़ी कार्यवाही की जाएगी।एंकर- यूपी के एटा में स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही का मामला सामने आया है, बगैर पीपीई किट के ही कोरोना जांच की जा रही है, स्वास्थ्यकर्मी जाँच सैम्पल लेते समय पीपी किट का इस्तेमाल नही कर रहे है अपनी और मरीजों की जान से खिलबाड़ कर रहे हैं, जनपद में घर घर जाकर कोरोना वायरस की जाँच करने में कई टीमें लगी है लेकिन बगैर पीपीई किट के स्वास्थ्य कर्मी रैंडम चेकअप कर रहे हैं, जबकि जनपद में बहुत तेजी से कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़ रहा है, इसके बाबजूद भी स्वास्थ्य कर्मी जांच में  रिस्क उठा कर रहे हैं, पूरा मामला कोतवाली नगर क्षेत्र के होली मोहल्ला का मामला है जहां से कोबिड की जांच के लिए टीम गई थी और बिना किसी सुरक्षा उपकरण के ही सेम्पलिंग की गई, सूत्रों की माने तो उसी समय एक कोरोना पॉजिटिव भी निकल आया था इससे कही न कही डॉक्टर को ही खतरा है, हालांकि पीपीई किट की बात की जाए तो उत्तर प्रदेश में घोटाले के मामले सामने आ रहे हैं, इस प्रकरण के बाद एटा में भी पीपीई किट घोटाले की बू आ रही है हालांकि पूरे मामले में सीएमओ अरविंद कुमार गर्ग ने बताया कि कोई भी स्वास्थ्य कर्मचारी बिना पीपीई किट के किसी का कोरोना चेकअप नहीं कर सकता है यदि अगर ऐसा कोई मामला है तो मैं निश्चित रूप से जांच के बाद ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही करूंगा और कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

Comments 0

No comments found